17

SEO क्या है?

SEO किसी वेबसाइट को अगर आप Google, Yahoo या bing जैसे सर्च इंजन में सबसे ऊपर देखना चाहते है तो यहाँ जरूरी है, आपकी वेबसाइट की Quality अच्छी हो यानि की वेबसाइट या पोस्ट सर्च इंजन के लिए ऑप्टिमाइज़ किया हुआ हो, यदि आपकी वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ यानि की सर्च इंजन के लिए ऑप्टिमाइज़ किया होता है तो आपके वेबसाइट की ट्रैफिक बहुत ही अच्छी होती है, SEO से आपको आर्गेनिक ट्रैफिक (ogranic traffic) यानि फ्री ट्रैफिक मिलती है,

इसलिए यहाँ बहुत जरूरी है की आपकी वेबसाइट की SEO बहुत ही अच्छे से किये हुआ हो जिससे आपकी वेबसाइट सर्च इंजन में फर्स्ट पेज में रैंक करे।

SEO के फायदे

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन एक सही तरीका है ऑनलाइन मार्केटिंग ( Online Marketing ) का क्युकी जब हमे कोई भी चीज़ की जानकारी या कोई वस्तु खरीदना होता है तो हम सर्च इंजन (serach engine) में टाइप करते है और सामान्य तौर में ऊपर आये रिजल्ट को ही ओपन करते है जिसको हम फ्री ट्रैफिक या आर्गेनिक ट्रैफिक भी कहते है। वेबसाइट अगर अच्छे से SEO किया हुआ हो तो आपकी वेबसाइट सार सर्च इंजन के फर्स्ट पेज में के दिखाएगी जिससे उसमे फ्री ट्रैफिक बहुत ही ज्यादा होगी और आपकी कमाई भी अच्छी होगी।

What is seach engine optimation in Hindi | SEO क्या है हिंदी में

2014 के एक सर्वे में यहाँ देखा गया है की 2.5 खरब लोग सर्च इंजन से ही किसी वेबसाइट के अंदर गए है और यहाँ संख्या आज 2019 में और बढ़ गया है

SEO क्यों जरूरी

आम तौर पर देखा गया है 50-60 प्रतिशत लोग सर्च किये गए रिजल्ट के पहले 3 (तीन) रिजल्ट में से किसी एक रिजल्ट के अंदर जाते है और उसमे से 3-4 प्रतिशत लोग ही दूसरे पेज में जाते है बाकि लोग पहले पेज में से किसी रिजल्ट में जाते है इसलिए जरूरी है की आपका पेज सर्च इंजन के फर्स्ट पेज में दिखता हो, इसलिए seo को इतना जरूरतमंद माना जाता है।

सर्च इंजन कैसे काम करता है ?

हम अगर बात करे google की क्युकी ये सबसे बढ़ी सर्च इंजन है, करीब 70 प्रतिशत सर्च गूगल में किया जाता है गूगल की algorithm होती है जो यहाँ देखती है की कौन सा पेज कितने ऊपर देना है क्या सर्च करने पर कौन सा रिजल्ट दिखाना है और यहाँ algorithm बहुत ही बारीकियों से काम करता है हर बार इसमें बदलाव किये जाते है पर algorithm इन तीन चीज़ो को सबसे ज्यादा ध्यान से देखता है

Page Structure ( पृष्ठ संरचना)

SEO पेज स्ट्रक्चर बहोत जरूरी है किस तरह HTML के सहायता से आप पेज को सुंदर बनाते है सुन्दर से मतलब व्यूअर (User Friendly) हो और उसकी URL, Title, Keyword, Header साडी चीज़े ऑप्टिमाइजेशन हो

डिजिटल मार्केटर को होनी चहिये ये जानकारी

Content (सामग्री)


कहा जाता है “Content is a King” सर्च इंजन सबसे पहले यही देखता है की जो चीज़े सर्च इंजन पूछ रहा है क्या इस कंटेंट में वो चीज़ है अगर होती है तो उसको ऊपर दिखता है इसलिए जरूरी है आपकी कंटेंट SEO के अतिरिक्त हो जिससेवो सबसे ऊपर दिखाए, इसलिए जरूरी है आपकी पोस्ट में कीवर्ड सही सही डाली हुई हो।

Link (संपर्क)


किसी दूसरे वेबसाइट से संपर्क जोड़ना यानि Blackline लेने से आपकी वेबसाइट की रैंकिंग बहुत अच्छी हो जाती है लेकिन शर्त यहाँ है की वेबसाइट की उदेश सामान हो और उसकी क्वालिटी अच्छी हो जिससे गूगल यहाँ समझे की एक अच्छी वेबसाइट का भरोसा है इस वेबसाइट पर और इससे अच्छी रैंकिंग मिलने में सहायता मिलती है।